सोमवार, 10 अगस्त 2009

जय बंगलादेशी !

फूलों की मत पूछो
पूरा कूड़ेदान सजा कर रखा है।
इधर उधर कहाँ जाते हो?
कहाँ थूकोगे, कहाँ मूतोगे?
देखो, तुम्हारे बिगाड़ने को,
पूरा हिन्दुस्तान बना रक्खा है।

7 टिप्‍पणियां:

  1. Aj to sirf India !!

    स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें. "शब्द सृजन की ओर" पर इस बार-"समग्र रूप में देखें स्वाधीनता को"

    उत्तर देंहटाएं
  2. देखो, तुम्हारे बिगाड़ने को,
    पूरा हिन्दुस्तान बना रक्खा है।

    - जय भारत.

    उत्तर देंहटाएं
  3. " देखो, तुम्हारे बिगाड़ने को,
    पूरा हिन्दुस्तान बना रक्खा है।"
    वाह-वाह-वाह....लाजवाब...

    उत्तर देंहटाएं